भूख बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा – bhukh badhane ki ayurvedic dawa

भूख बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा - bhukh badhane ki ayurvedic dawa

भूख बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा आपकी कमजोर भूख (Weak hunger) को तेज कर सकती है। यदि आपकी पाचन शक्ति कमजोर है तो स्‍वाभाविक है कि धीरे-धीरे आपका शरीर भी कमजोर हो सकता है। लेकिन भूख तेज करने के आयुर्वेदिक सिरप (bhukh Badhane ki syrup) भी मौजूद हैं। भूख बढ़ाने के लिए आप कई घरेलू उपाय भी आजमाते होगें। लेकिन कमजोर भूख बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक दवा का भी सेवन किया जा सकता है। यदि आप भी कमजोर भूख (Lack of appetite) का इलाज चाहते हैं तो यह लेख आपके लिए ही है। इस लेख में आप भूख बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा (bhukh Badhane ki ayurvedic dawa) और उनके उपयोग संबंधी जानकारी प्राप्‍त करेगें।

भूख बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा बैद्यनाथ अग्निवर्धक वटी – bhuk Badhane ki ayurvedic dawa Baidyanath Agniwardhak Bati

यह एक आयुर्वेदिक दवा है जो भूख बढ़ाने में बहुत ही प्रभावी होती है। अग्निवर्धक वटी (Agniwardhak Bati) शरीर के लिए टॉनिक का काम करती है। यह औषधी अपने नाम के अनुसार पाचन अग्नि (Digestion fire) को उत्‍तेजित करती है। इसके अलावा यह पाचन समस्‍याओं को दूर कर शरीर में चयापचय को उत्‍तेजित करता है। यह मुख्‍य रूप से पाचन तंत्र (Digestive System) पर कार्य करता है और यकृत को उत्‍तेजित करता है। आप भी भूख बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा के रूप में बैद्यनाथ अग्निवर्धक वटी का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

अग्निवर्धक वटी के अवयव (Ingredients)

भूख बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा बैद्यनाथ अग्निवर्धक वटी - bhuk Badhane ki ayurvedic dawa Baidyanath Agniwardhak Bati
source by Baidyanath

भूख लगने की दवा बैद्यनाथ अग्निवर्धक वटी (Agniwardhak Bati) के घटकों में शामिल अवयव इस प्रकार हैं।

  • बोली लॉन (Bid lawan)
  • नवसादर (Navasadar)
  • अकवनफूल (Akwanphool)
  • मारीच और नींबू का रस (Marich and Lemon juice)

.

भूख तेज करने के लिए अग्निवर्धक वटी का प्रयोग – use Of Agniwardhak Bati in Hindi

यदि आप अपनी भूख बढ़ाना चाहते हैं तो अग्निवर्धक वटी की 1-2 गोलियां दिन में 2 से 3 बार सेवन करें या चूसें। इससे बेहतर है कि आप अपने चिकित्‍सक की सलाह के अनुसार इसका सेवन करें।

बैद्यनाथ अग्निवर्धक वटी के लाभ – Bhukh Badhane ki tonic ke labh

  • अग्निवर्धक वटी अपच (Indigestion), शूल आदि में बहुत ही प्रभावी होती है।
  • यह आ‍युर्वेदिक औषधी (Ayurvedic medicines) पाचन में सुधार करती है।
  • नियमित सेवन से यह भूख को (Increase in hunger) बढ़ाती है।

अग्निवर्धक वटी की कीमत –

बैद्यनाथ अग्निवर्धक वटी 30 GM / 80 TAB के पैक में उपलब्‍ध है जिसकी कीमत भारत में लगभग 121 रूपये है।

भूख बढ़ाने की आयुर्वेदिक सिरप बैद्यनाथ अजवाइन आर्क – bhukh Badhane ki syrup Baidyanath Ajawain Ark

जिन लोगों में भूख की कमी होती है उन्‍हें भूख बढ़ाने की आयुर्वेदिक सिरप (bhukh Badhane ki ayurvedic syrup) का सेवन करना चाहिए। बैद्यनाथ अजवाइन अर्क भी भूख बढ़ाने की टॉनिक (bhook Badhane ki tonic) के रूप में उपयोग किया जाता है। यह भूख को उत्‍तेजित करने और पाचन शक्ति को बढ़ाने में मदद करता है। अजवाइन अपने एंटी-इमेटिक गुणों के कारण जाना जाता है। इसलिए उल्‍टी और शूल आदि समस्‍याओं के लिए भी अजवाइन अर्क (Ajawain Ark) लाभकारी होता है।

बैद्यनाथ अजवाइन अर्क के अवयव (Ingredients)

source by Baidyanath

भूख बढ़ाने की टॉनिक बैद्यनाथ अजवाइन अर्क में प्रमुख घटक के रूप में अजवाइन (Carom seeds) का उपयोग किया जाता है।

भूख बढ़ाने के लिए अजवाइन अर्क का प्रयोग – Use of Carom seeds extracts to increase appetite in Hindi

जिन लोगों को भूख की कमी होती है उन्‍हें 10 ml से 15 ml तक भोजन के बाद अजवाइन अर्क का सेवन करना चाहिए। या फिर उन्‍हें अपने चिकित्‍सक के बताए अनुसार अजवाइन अर्क और पानी की बराबर मात्रा को दिन में दो बार सेवन करना चाहिए। यह आपकी भूख को बढ़ा सकता है इसलिए इसका नियमित सेवन किया जा सकता है।

बैद्यनाथ अजवाइन अर्क के फायदे – bhukh Badhane ki syrup ke fayde

  • बैद्यनाथ अजवाइन अर्क अपच में उपयोगी है।
  • यह एनोरेक्सिया (anorexia) के इलाज के लिए भी फायदेमंद है और भूख को बढ़ाती है।
  • यह पेट फूलना (flatulence) और अन्‍य गैस्ट्रिक समस्‍याओं (gastric problems) का प्रभावी इलाज करती है।

बैद्यनाथ अजवाइन अर्क की कीमत –

बैद्यनाथ अजवाइन अर्क 225 ml की पैकिंग में उपलब्‍ध है जिसकी कीमत लगभग 47 रूपये है।

भूख लगने की सबसे अच्‍छी दवा क्षुधाकारी बटी – bhook lagne ki ayurvedic dawa Baidyanath Kshudhakari Bati

भूख न लगने का इलाज करने के लिए बैद्यनाथ ग्रुप आयुर्वेदिक दवाओं के निर्माताओं में से एक है। इस ग्रुप की भूख लगने की सबसे अच्‍छी दवा क्षुधाकारी बटी है। इस उत्पाद का सेवन कार्मिनिटिव (Carminative), पेट की परेशानियों और भूख बढ़ाने के लिए किया जाता है। इस दवा का सेवन करने से पाचन प्रणाली को स्‍वस्‍थ्‍य और मजबूत बनाने में मदद मिलती है।

बैद्यनाथ क्षुधाकारी बटी के अवयव (Ingredients)

Edit Column भूख बढ़ाने की टॉनिक बैद्यनाथ अशोकारिष्‍ट – bhook Badhane ki tonic Baidyanath Ashokarishta
source by Baidyanath

भूख लगने की आयुर्वेदिक दवा बैद्यनाथ क्षुधाकारी बटी के घटकों में शामिल हैं :

  • निम्‍बू सातवा (Nimbu Satwa)
  • त्रिकटु (Trikatu)
  • अकरकरा (Akarkara)
  • जीरा (Jeera)
  • सुहागा (Suhaga)

भूख कैसे बढ़ाये के लिए बैद्यनाथ क्षुधाकारी बटी (Kshudhakari Bati) का प्रयोग –

आप अपनी भूख को बढ़ाने के लिए क्षुधाकारी बटी की 2 गोलियों (bhukh lagne ka tablet) का दिन में दो बार सेवन करें। इसके अलावा आप अपने चिकित्‍सक की सलाह के अनुसार भी क्षुधाकारी बटी का सेवन कर सकते हैं।

बैद्यनाथ क्षुधाकारी बटी के फायदे – bhook Badhane ki tonic ke fayde

इस आयुर्वेदिक औषधि का सेवन करने से आपको भूख बढ़ाने में मदद मिलती है। साथ ही यह पाचन संबंधी अन्‍य समस्‍याओं को भी दूर कर सकता है।

बैद्यनाथ क्षुधाकारी बटी की कीमत –

क्षुधाकारी बटी (Kshudhakari Bati) 30 gm के पैकिट में उपलब्‍ध है जिसकी कीमत लगभग 94 रूपये है।

भूख बढ़ाने की टॉनिक बैद्यनाथ अशोकारिष्‍ट – bhook Badhane ki tonic Baidyanath Ashokarishta

आप भूख बढ़ाने की टॉनिक के रूप में बैद्यनाथ अशोकारिष्‍ट का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। बैद्यनाथ अशोकारिष्‍ट आपकी भूख की कमजोर इच्‍छा का इलाज करने का सबसे अच्‍छा उपाय है। भूख बढ़ाने के इस दवा में बैद्यनाथ अशोक घृत के समान कुछ प्रभाव होते हैं। लेकिन इसके अलावा अशोकारिष्‍ट महिलाओं के रक्‍त चक्र को भी निय‍ंत्रित करता है। यह एक उत्‍तेजक टॉनिक है जिसका उपयोग ल्‍यूकोरिया (leucorrhoea), हेमट्यूरिया (haematuria), मेनोरेजिया (menorrhagia) और इसी तरह की अन्‍य बीमारियों के इलाज में किया जाता है। यह महिलाओं में रक्‍त परिसंचरण और पुनर्जनन प्रक्रिया की रक्षा भी करता है।

बैद्यनाथ अशोकारिष्‍ट के अवयव (Ingredients)

भूख बढ़ाने की टॉनिक बैद्यनाथ अशोकारिष्‍ट – bhook Badhane ki tonic Baidyanath Ashokarishta
source by Baidyanath

बैद्यनाथ अशोकारिष्‍ट एक भूख बढ़ाने वाली टॉनिक (Appetite tonic) है। इस औषधि में बहुत सी बहुमूल्‍य जड़ी बूटीयों का उपयोग किया जाता है। जैसे कि

  • अशोक (Ashok)
  • जिराक (Jirak)
  • मोथा (Motha)
  • त्रिफला (Triphala)
  • सुन्‍ती (Sunthi)
  • अमृसेद (Amraseed)
  • वासक (Vasak)
  • चंदन (Chandan)
  • धतकी (Dhataki)
  • गुड़ (Jaggary)

भूख बढ़ाने वाली टॉनिक अशोकारिष्‍ट का प्रयोग –

जिन लोगों को भूख बढ़ानी है उन्‍हें अशोकारिष्‍ट सिरप की 15 से 30 ml और पानी की बराबर मात्रा के साथ रोजाना दिन में 1 बार सेवन करना चाहिए।

बैद्यनाथ अशोकारिष्‍ट के फायदे – bhook lagne ki medicine ke labh

  • बैद्यनाथ अशोकारिष्‍ट ल्‍यूकोरिया (leucorrhoea), हेमट्यूरिया (haematuria), मेनोरेजिया (menorrhagia) और इसी तरह के अन्‍य रोगों में लाभ दिलाती है।
  • यह एक वैकल्पिक उत्‍तेजक के रूप में उपयोग किया जाता है जो कि कसैला (astringent) है।
  • अशोकारिष्‍ट सिरप को कष्‍टार्तव (dysmenohorrhoea) के लिए एक उपाय के रूप में उपयोग किया जाता है।
  • यह महिलाओं की अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं के लिए भी प्रभावी औषधि है।

भूख तेज करने की अशोकारिष्‍ट (Ashokarishta) टॉनिक की कीमत –

अशोकारिष्‍ट टॉनिक 450 ml की बोतल में उपलब्‍ध है जिसकी कीमत लगभग 105 रूपये है।

बच्‍चें की भूख बढ़ाने की सिरप बैद्यनाथ बालमृत – Bhukh Badhane ki tonic Baidyanath Balamrit

आपके बच्‍चे की भूख को बढ़ाने का प्राकृतिक और असरदार तरीका (Natural and effective way) बैद्यनाथ बालमृत है। बैद्यनाथ बालमृत एक बेमिसाल टॉनिक है जिसे आप अपने बच्‍चे के लिए चुन सकते हैं। इसमें मौजूद घटक हमारी भूख को बढ़ा सकते हैं। यह पौष्टिक होने के साथ ही प्रकृति में एंटीरिकेटिक (antiricketic) भी होता है। यह खांसी और सर्दी का भी उपचार कर सकता है जो कीटाणुओं (germs) द्वारा संचारित होते हैं। यह आपके बच्‍चे के बढ़ते शरीर को एनर्जी भी प्रदान करता है।

बैद्यनाथ बालमृत के अवयव (Ingredients)

भूख बढ़ाने की टॉनिक बैद्यनाथ अशोकारिष्‍ट – bhook Badhane ki tonic Baidyanath Ashokarishta
source by Baidyanath
  • मुलेठी (Mulethi)
  • एते (Atees)
  • काकड़ासिंगी (Kakrasringi)
  • नागरमोथा (Nagarmotha)
  • अनंतमूल (Anantmool)
  • वैविदंग (Vaividang)
  • हरिताकी (Haritaki)
  • आजवाईन (Ajovain)
  • वच (Vach)
  • चूर्णोदक (Churnodak)
  • चीनी (Sugar)
  • गंधक (sulphur)
  • तुवरक टेल (Tuvarak tel)
  • कपूर (Kapur)

भूख बढ़ाने की सिरप बैद्यनाथ बालमृत का प्रयोग – bhukh Badhane ki syrup

यदि आप अपने बच्‍चे की भूख को बढ़ाना चाहते हैं तो बालमृत सिरप की 1 से 3 ml मात्रा को दिन में दो बार नियमित रूप से सेवन कराएं।

बैद्यनाथ बालमृत टॉनिक के फायदे – bhukh Badhane ki ayurvedic medicine ke fayde

  • नियमित रूप से बैद्यनाथ बालमृत टॉनिक का सेवन बच्‍चों की भूख को बढ़ाने का सबसे अच्‍छा तरीका है।
  • यह बच्‍चों को रोगाणु, सर्दी, खांसी और इसी तरह की अन्‍य बैक्‍टीरियल समस्‍याओं को दूर करता है।
  • यह बच्‍चों के लिए एक विरोधी विकृति (anti ricketic) टॉनिक है।
  • यह आपके बढ़ते बच्‍चे के लिए ऊर्जा प्रदाता (energy provider) का भी काम करता है।

भूख बढ़ाने वाली दवा बालमृत की कीमत –

बैद्यनाथ बालमृत की कीमत 45 से 78 रूपये की बीच होती है।

भूख लगने वाली दवा अशोक धृत – bhukh lagne wali dawa Baidyanath Ashok Ghrita

आप अपनी भूख बढ़ाने वाली दवा के रूप में बैद्यनाथ अशोक घृत (Ashok Ghrita) का उपयोग कर सकते हैं। यह समान्‍य से कम भूख लगने वाली समस्‍याओं का इलाज करने का सबसे अच्‍छा तरीका है। बैद्यनाथ अशोक घृत में एंटी-इंफ्लामेटरी (Anti-inflammatory) गुण होते हैं जो गर्भाशय शामक होता है। नियमित रूप से इस औषधी का सेवन करने से गर्भाशय पर इसकी उचित कार्यवाई होती है। इसलिए भूख लगने वाली दवा (bhook lagne ki ayurvedic dawa) के रूप में यह महिलाओं के लिए बहुत ही फायदेमंद औषधी मानी जाती है। इसके अलावा बैद्यनाथ अशोक घृत महिलाओं में अंडाशय को स्‍वस्‍थ करने का सबसे अच्‍छा उपाय माना जाता है। महिलाएं अपनी भूख की कमी को दूर करने के लिए इसे नियमित रूप से उपयोग कर सकती हैं।

बैद्यनाथ अशोक घृत के अवयव (Ingredients)

भूख लगने वाली दवा अशोक धृत - bhukh lagne wali dawa Baidyanath Ashok Ghrita
source by Baidyanath

महिलाएं अपनी भूख कैसे बढ़ाये इस प्रश्‍न का समाधान करने के लिए बैद्यनाथ अशोक घृत का इस्‍तेमाल कर सकती हैं। इस औषधी में मौजूद अवयव या घटक इस प्रकार हैं।

  • सरका इंडिका (Sarca Indica)
  • जीरा (Caraway)
  • चावल का पानी (Rice water)
  • रसोट (Rasot)
  • भृंगराज (Bhringaraj)
  • मुलैठी (Liquorice)
  • शतावर (Shatavar)
  • अष्‍ट वरगा (Ashta Varga)
  • घृत (Ghrit)

भूख लगने की सबसे अच्‍छी दवा अशोक घृत का प्रयोग –

जिन महिलाओं की पाचन शक्ति कमजोर होती है और भूख कम लगती है उनके लिए यह दवा एक टॉनिक है। ऐसी महिलाओं को भूख बढ़ाने के उपाय में दूध या मिश्री के साथ बैद्यनाथ अशोक घृत की 3 से 12 ग्राम मात्रा या चिकित्‍सक की सलाह अनुसार सेवन करना चाहिए।

भूख लगने का टॉनिक बैद्यनाथ अशोक घृत के फायदे – bhook Badhane ka syrup ke fayde

महिलाओं के स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी समस्‍याओं को दूर करने की अपार क्षमता अशोक घृत में होती है। आप भी अपनी भूख को बढ़ाने के लिए अशोक घृत का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। नियमित रूप से इसका सेवन महिलाओं में भारी रक्‍तस्राव को रोकने में सहायक होता है। इसके अलावा यह अन्‍य कई महिला संबंधी समस्‍याओं को भी प्रभावी रूप से दूर कर सकता है। भूख में वृद्धि करने वाली इस दवा के गुण एंटी-इंफ्लामेटरी और कसैले होते हैं। जिसका उपयोग महिलाएं गर्भाशय शाक के रूप में भी कर सकती हैं। 

भूख बढ़ाने वाली आयुर्वेदिक दवा अशोक घृत की कीमत –

बैद्यनाथ द्वारा निर्मित अशोक घृत गाय से बना शुद्ध घी है जिसकी 100 ग्राम मात्रा की कीमत लगभग 228 रूपये है।

भूख लगने का सिरप बैद्यनाथ द्राक्षारिष्‍ट – bhook lagne ki syrup Draksharishta

द्राक्ष‍ारिष्‍ट सिरप एक आयुर्वेदिक टॉनिक है जो पाचन तंत्र और श्वसन प्रणाली को स्‍वस्‍थ रखती है। जानकार मानते हैं यह पाचन तंत्र के लिए एक अच्‍छा टॉनिक है। इसके अलावा भूख बढ़ाने वाली यह टॉनिक सभी उम्र के लिए उपयोग की जा सकती है। बैद्यनाथ द्राक्षारिष्‍ट सिरप अनिद्रा, कमजोरी, अस्‍थमा, खांसी और कफ आदि को भी ठीक कर सकती है। भूख तेज करने वाली यह औषधी प्रकृति से प्राप्‍त100 प्रतिशत कार्बनिक जड़ी बूटियों के पत्‍ते, जड़, फल और बीजों से तैयार की जाती है।

भूख लगने का टॉनिक द्राक्षारिष्‍ट के अवयव (Ingredients)

भूख लगने का सिरप बैद्यनाथ द्राक्षारिष्‍ट - bhook lagne ki syrup Draksharishta
source by Baidyanath

भूख लगने की आयुर्वेदिक दवा द्राक्षारिष्‍ट में पाये जाने वाले घटक इस प्रकार हैं :

  • मुनक्‍का (Munakka)
  • काली मिर्च (Black Pepper)
  • पीपल के पत्‍ते (Ficus Religiosa)
  • अगलिया रोक्सबर्गियाना (Aglaia Roxburghiana)
  • एम्‍बेलिका रिब्‍स (Embelica Ribes)
  • वुडफोर्डिया फ्रूटोकोसा (Woodfordia Frutocosa

भूख बढ़ाने के लिए द्राक्षारिष्‍ट का प्रयोग –

आप अपनी कमजोर भूख को फिर से बढ़ाने के लिए द्राक्षारिष्‍ट सिरप की 4-4 चम्‍मच का दिन में दो बार सेवन करें।

भूख बढ़ाने की सिरप द्राक्षारिष्‍ट के फायदे – bhukh Badhane ki ayurvedic dawa

आप अपनी भूख को बढ़ाने के लिए द्राक्षारिष्‍ट सिरप का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। लेकिन भूख लगने की इस टॉनिक का प्रयोग आपको अन्‍य लाभ जैसे एसिडिटी से छुटकारा और अपच आदि दिला सकते हैं। द्राक्षारिष्‍ट सिरप भूख उत्‍तेजक के रूप में उपयोग किया जा सकता है।

भूख बढ़ाने वाली आयुर्वेदिक सिरप द्राक्षारिष्‍ट की कीमत – 

बैद्यनाथ द्राक्षारिष्‍ट सिरप 450 ML की बोतल में उपलब्‍ध है जिसकी कीमत 157 रूपये के लगभग है।

भूख बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा हरिताकी चूर्ण – Badhane ki ayurvedic dawa Haritaki Churna

पेट की आंतरिक सफाई और डिटॉक्सिफायर के लिए हरिताकी चूर्ण के फायदे होते हैं। भूख बूस्‍टर के रूप में आप हरिताकी चूर्ण का प्रयोग कर सकते हैं। यह शरीर के ऊतकों और शरीर के पाचन कार्यों को बढ़ाता है। इसके अलावा भूख बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा के रूप में हरिताकी चूण पेट संबंधी अन्‍य विकारों को भी दूर करता है।

भूख बढ़ाने वाले हरिताकी चूर्ण के घटक (Ingredients)

भूख बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा हरिताकी चूर्ण – Badhane ki ayurvedic dawa Haritaki Churna
source by Baidyanath

भूख संबंधी समस्‍याओं को दूर करने वाले हरिताकी चूर्ण में हर्रा (Terminalia Chebula) प्रमुख घटक के रूप में उपयोग किया जाता है।

भूख तेज करने के लिए हरिताकी चूर्ण का प्रयोग –

हरिताकी चूण का उपयोग कर आप अपनी भूख में सुधार कर सकते हैं। पाचन संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए आप नियमित रूप से प्रतिदिन 1 से 2 चम्‍मच हरिताकी चूर्ण का सेवन दिन में दो बार करें।

हरिताकी चूर्ण की कीमत –

बैद्यनाथ द्वारा निर्मित हरिताकी चूर्ण 100 ग्राम के पैकिट में उपलब्‍ध है। इसकी कीमत लगभग 65 रूपये है।

भूख बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा मुक्‍ता शुक्ति भस्‍म – bhukh Badhane ki ayurvedic dawa Mukta Shukti Bhasma

मुक्‍ता शुक्ति भस्‍म ऐसी दवा है जो पाचन समस्‍याओं और पेट को साफ करने में सहायक है। लेकिन नियमित रूप से इसका सेवन आपको सामान्‍य बुखार, पुरानी बुखार, खांसी, तपेदिक, ल्‍यूकोरिया, उच्‍च रक्‍तचाप, पेट दर्द और रक्‍तस्राव आदि से राहत दिला सकता है।

मुक्‍ता शुक्ति भस्‍म के घटक (Ingredients)

भूख बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा मुक्‍ता शुक्ति भस्‍म - bhukh Badhane ki ayurvedic dawa Mukta Shukti Bhasma
source by Baidyanath

मुक्‍ता शुक्ति भस्‍म में शुद्ध मोती के पाउडर का इस्‍तेमाल मुख्‍य घटक के रूप में किया जाता है।

भूख बढ़ाने की आयुर्वेदिक मेडिसिन मुक्‍ता शुक्ति का प्रयोग –

भूख बढ़ाने के लिए आप आयुर्वेदिक दवा मुक्‍ता शुक्ति भस्‍म की 125 मिली ग्राम मात्रा का दिन में दो बार सेवन करें। यह भूख बढ़ाने की आयुर्वेदिक मेडिसिन है।

भोजन करने की क्षमता बढ़ाने की दवा मुक्‍ता शुक्ति की कीमत –

मुक्‍ता शुक्ति भस्‍म 10 ग्राम की डिब्‍बी में आती है जिसकी कीमत लगभग 83 रूपये है।

और अधिक स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी जानकारी प्राप्‍त करने के लिए आप हमारे Facebook और twitter page को लाइक कर सकते हैं।

You may also like...

Your email will not be published. Name and Email fields are required