स्टीविया के फायदे और नुकसान – Stevia Benefits And Side Effects in Hindi

स्टीविया के फायदे और नुकसान – Stevia Benefits And Side Effects in Hindi

स्‍टीविया (Stevia) एक प्राकृतिक और औषधीय गुणों वाला पौधा है। स्‍टीविया के फायदे प्राकृतिक स्‍वीटनर के लिए जाने जाते हैं। स्‍टीविया के फायदे और नुकसान भी होते हैं जो आपके स्‍वास्‍थ्‍य को प्रभावित करते हैं। स्‍टीविया के गुण विभिन्‍न प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्याओं को दूर करने के लिए जाने जाते हैं। स्‍टीविया के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों में मधुमेह को नियंत्रित करना प्रमुख है। स्‍टीविया के पौधे वजन को कम करने में सहायक होते हैं। स्‍टीविया के बीज रक्‍तचाप नियंत्रण और कैंसर की रोकथाम में फायदेमंद होते हैं। स्‍टेविया पाउडर के लाभ त्‍वचा समस्‍याओं, एलर्जी का इलाज और हड्डी स्‍वास्‍थ्‍य आदि शामिल हैं। ये सभी लाभ इस औषधीय पौधे में मौजूद पोषक तत्‍वों के कारण होते हैं। लेकिन स्‍टीविया के नुकसान भी होते हैं। इसलिए आज हम स्‍टीविया के फायदे और नुकसान (Stevia Benefits And Side Effects) संबंधी जानकारी लाए हैं। आइए जाने स्‍टीविया क्या है।

1. स्टीविया क्या है – What Is Stevia in Hindi
2. स्टीविया प्‍लांट – Stevia Plant in Hindi
3. स्‍टीविया का हिन्‍दी नाम – Stevia ka Hindi naam in Hindi
4. स्टीविया के पोषक तत्‍व – Stevia Nutrition in Hindi
5. स्‍टीविया के फायदे – Stevia Benefits in Hindi
6. स्‍टीविया का उपयोग कैसे करें – Stevia ka Upyog kaise kare in Hindi
7. स्‍टीविया के नुकसान – Stevia Ke Nuksan in Hindi

स्टीविया क्या है – What Is Stevia in Hindi

स्‍टेविया रेबुडियाना प्‍लांट (Stevia rebaudiana plant) से स्‍टेविया प्राप्‍त किया जाता है। यह क्रिस्‍टेंथेम (chrysanthemum) परिवार का सदस्‍य है। स्‍टेविया पौधे की पत्तियां शक्‍कर की तुलना में 200 गुना अधिक मीठी होती हैं जो कि सदियों से मिठाई और हर्बल पूरकों के रूप में उपयोग की जा रही है। यह मिठास प्राप्‍त करने का प्राकृतिक तरीका है। चुंकि इसमें औषधीय गुण होते हैं इसलिए यह शक्कर (Sugar) से भी अधिक मीठा होने के बावजूद मधुमेह को नियंत्रित करने में मदद करता है। यह आपको सामान्‍य रूप से किसी भी किराना दुकान में उपलब्‍ध हो सकता है।

स्टीविया प्‍लांट – Stevia Plant in Hindi

 

इस औषधीय पौधे को मीठे पत्‍ते के नाम से भी जाना जाता है। इसके पत्‍तीयों के मीठे स्‍वाद के कारण ही इसका व्‍यवसायिक उत्‍पादन किया जाता है। ये पौधे पराग्‍वे के मूल निवासी हैं। इस पौधे की पत्तियों में स्‍टेविओल ग्‍लाइकोसाइड्स (steviol glycosides) के रूप में कई मीठे स्‍वाद वाले रसायन होते हैं।

स्‍टेविया का पौधा एक बारहमासी जड़ी बूटी है जिसकी ऊंचाई लगभग 30-80 सेमी (1-2.5 फीट) तक होती है। इसकी पत्तियां सुगंधित होती हैं जो कि 2.5 सेमी लंबी होती है। इसके फूल छोटे-छोटे होते हैं जिनमें 5 पंखुडियां होती हैं। यह पौधा गर्म और आर्द्र जलवायु (Hot and humid climate) में अच्‍छी तरह से उगता है।

स्‍टीविया का हिन्‍दी नाम – Stevia ka Hindi naam in Hindi

स्‍टीविया को हिन्‍दी में मीठी तुलसी के नाम से जाना जाता है। इसके अलावा स्‍टीविया के अन्‍य नामों में स्‍वीटलीफ, स्‍वीट लीफ, सुगरलीफ या फिर सिर्फ स्‍टेविया के नाम से जाना जाता है।

स्टीविया के पोषक तत्‍व – Stevia Nutrition in Hindi

प्राकृतिक मिठास (Natural sweeteners) पाने के लिए स्‍टीविया पौधे का उपयोग किया जाता है। चीनी की मिठास के स्‍थान पर आप इस पौधे से प्राप्‍त होने वाली मिठास को प्रतिस्‍थापित कर सकते हैं। स्‍टीविया में विभिन्‍न प्रकार के एंटीऑक्‍सीडेंट यौगिक होते हैं जिनमें फ्लेवोनोइड्स, ट्राइटरपेन्‍स, टैनिन, कैफीक एसिड, कैम्‍पेफेरोल औरक्वार्सेटिन भी शामिल हैं। स्‍टेविया पौधे में फाइबर, प्रोटीन, आयरन, पोटेशियम, मैग्‍नीशियम, सोडियम, Vitamins A और C की अच्‍छी मात्रा होती है। इन सभी पोषक तत्‍वों की अच्‍छी मात्रा होने के कारण यह हमें कई प्रकार के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ दिलाने में सहायक होता है।

आइए जाने स्‍टीविया (Stevia rebaudiana plant) हमारे लिए किस प्रकार फायदेमंद है।

स्‍टीविया के फायदे – Stevia Benefits in Hindi

प्राकृतिक रूप से मधुमेह (diabetes) को नियंत्रित करने के साथ ही स्‍टीविया प्‍लांट हमें अन्‍य गंभीर और सामान्‍य स्‍वास्‍थ्‍य लाभ दिलाने में मदद कर सकता है। इसमें मौजूद पोषक तत्‍वों की उपस्थिति के कारण यह त्‍वचा समस्‍याओं और कैंसर (Skin cancer) जैसी गंभीर बीमारी की रोकथाम कर सकता है।

आइए विस्‍तार से जाने स्‍टीविया के फायदे क्‍या हैं।

स्टीविया बेनिफिट्स फॉर वेट लॉस – Stevia Benefits For Weight Loss in Hindi

 

जो लोग अपना वजन कम (weight loss) करना चाहते हैं उनके लिए नियमित व्‍यायाम और उचित खानपान आवश्‍यक होता है। इसके अलावा स्‍टीविया का उपयोग कर प्रभावी रूप से वजन को कम कर सकते हैं। शरीर के अधिक वजन और मोटापे के कई कारण हो सकते हैं जैसे कि शारीरिक निष्क्रियता और उच्‍च ऊर्जा वाले खाद्य पदार्थों का सेवन जो उच्‍च वसा और शर्करा (Fat and sugars) में उच्‍च होते हैं। ये खाद्य पदार्थ शरीर का वजन बढ़ाने और रकत ग्‍लूकोज के स्‍तर के कम नियंत्रण से जुड़ा है। स्‍टेविया कैलोरी में बहुत ही कम होता है प्रजाति के आधार पर यह चीनी के मुकाबले 40 से 300 गुना अधिक मीठा होता है।

इसका मतलब यह है कि लोग बिना अधिक कैलोरी प्राप्‍त किये पर्याप्‍त मिठास का उपभोग कर सकते हैं। इस तरह से स्‍टीविया का उपभोग कर वजन को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है। यदि आप अपने वजन को कम करना चाहते हैं तो अच्‍छे विकल्‍प के रूप में स्‍टीविया आपके लिए फायदेमंद हो सकती है।

(इसे भी पढ़ें – जानिये मोटापे का कारण और कम करने के उपाय )

स्टीविया के फायदे मधुमेह के लिए – Stevia Benefits For Controls Diabetes in Hindi

 

स्टीविया के फायदे मधुमेह के लिए - Stevia Benefits For Controls Diabetes in Hindi

अध्‍ययनों से पता चलता है कि स्‍टेविया स्‍वीटर्स आहार में कैलोरी या कार्बोहाइड्रेट की उच्‍च मात्रा नहीं होती है। इसके अलावा यह रक्‍त ग्‍लूकोज या इंसुलिन प्रतिक्रिया पर कोई प्रभाव नहीं डालते हैं। इसलिए विभिन्‍न प्रकार के व्‍यंजनों में मधुमेह रोगी इस पौधे की पत्तियों का उपयोग कर सकते हैं। स्‍टीविया चीनी के समान ही आपके भोजन को मिठास प्रदान कर सकता है। इसमें स्‍टेवियोसाइड होता है जो गैर-कार्बोहाइड्रेट ग्‍लाइकोसाइड (Glycoside) यौगिक होता है। जब स्‍टीवियोसाइड टूट जाता है तो ग्‍लूकोज युक्‍त कण रक्‍त प्रवाह में अवशोषित होने और शरीर में ग्‍लूकोज के स्‍तर को प्रभावित करने के बजाय कोलन में बैक्‍टीरिया द्वारा अवशोषित होते हैं। मधुमेह या कार्बोहाइड्रेट नियंत्रित आहार वाले लोगों के लिए यह बहुत ही अच्‍छा विकल्प है। इस प्रकार स्‍टीविया रक्‍त ग्‍लूकोज, इंसुलिन (Insulin) के स्‍तर, रक्‍तचाप और शरीर के वजन पर कोई नकारात्‍मक प्रभाव नहीं डालता है।

स्टीविया के लाभ रक्‍तचाप नियंत्रित करे – Stevia Benefits For Controls Blood Pressure in Hindi

विभिन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य लाभों को प्राप्‍त करने के लिए स्‍टीविया का औषधीय उपयोग किया जाता है। इसके प्रमुख लाभों में रक्‍तचाप नियंत्रण भी शामिल है। स्‍टेवियोसाइड ग्‍लाइकासाइड का एक प्रकार है, लेकिन स्‍टेविया में अन्‍य ग्‍लाइकोसाइड्स होते हैं जो वास्‍तव में रक्‍त वाहिकाओं को आराम दिला सकते हैं। इसका नियमित उपभोग कर आप अपने शरीर में सोडियम की मात्रा को कम कर सकते हैं। इसका स्‍पष्‍ट मतलब यह है कि स्‍टीविया आपके कार्डियोवैस्‍कुलर स्‍वास्‍थ्‍य के लिए भी फायदेमंद होता है। इस तरह से यह रक्‍तचाप को नियंत्रित करने में मदद करता है। स्‍वस्‍थ्‍य रक्‍तचाप आपके स्‍वस्‍थ्‍य हृदय के लिए आवश्‍यक होता है। इससे दिल की रक्षा करने में मदद मिलती है।

नियमित रूप से स्‍टीविया का उपभोग कर आप एथेरोस्‍क्‍लेरोसिस, दिल के दौरे और स्‍ट्रोक आदि समस्‍याओं से बच सकते हैं।

(इसे भी पढ़ें – फेफड़ों के लिए स्‍वस्‍थ्‍य आहार)

स्टीविया के गुण हड्डी स्‍वास्‍थ्‍य के लिए – Stevia Benefits For Bone Health in Hindi

यह मानव स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत ही फायदेमंद जड़ी बूटी है। हालांकि हड्डी स्‍वास्‍थ्‍य से संबंधित अध्‍ययन मानव आधारित नहीं हैं। फिर भी कुछ पशु अध्‍ययनों से पता चलता है कि मुर्गीयों को इसका सेवन कराने से उनके अंडे उत्पादन की क्षमता में वृद्धि होती है। इसका मतलब यह है कि स्‍टीविया में कैल्शियम की उच्‍च मात्रा होती है जिससे अंडों के बाहरी आवरण का अधिक से अधिक निमार्ण होता है। इसलिए यह माना जा सकता है कि शरीर में कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए स्‍टीविया बहुत ही प्रभावी औषधी है। कैल्शियम हमारी हड्डियों में प्रमुख घटक होता है। यह हमारी हड्डियों को मजबूत करने और ऑस्टियोपोरोसिस की संभावनाओं को कम करने में मदद कर सकता है।

हड्डियों के उचित विकास और उन्‍हें शक्तिशाली बनाने के लिए स्‍टीविया का उपयोग फायदेमंद होता है।

(इसे भी पढ़ें – चूना खाने के फायदे और नुकसान)

स्टीविया पाउडर के फायदे कोलेस्‍ट्रॉल के लिए – Stevia powder Benefits For Cholesterol in Hindi

स्‍टीविया पाउडर का नियमित सेवन कोलेस्‍ट्रॉल को नियंत्रित करने में मदद करता है। स्‍वस्‍थ्‍य शरीर के लिए कोलेस्‍ट्रॉल की संतुलित मात्रा का होना आवश्‍यक है। मानव शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल दो प्रकार के होते हैं, अच्‍छे कोलेस्‍ट्रॉल और बुरे कोलेस्‍ट्रॉल। लेकिन आप अपने शरीर में इन दोनो प्रकार के कोलेस्‍ट्रॉल में संतुलन बनाए रखने के लिए स्‍टीविया की पत्तियों का उपयोग कर सकते हैं। 2009 में हुए एक अध्‍ययन से पता चलता है कि स्‍टीविया पत्तियों से बने पाउडर का उपभोग करने से कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को प्रबंधित किया जा सकता है। अध्‍ययन में शामिल प्रतिभागियों ने 1 माह तक प्रतिदिन 400 मिलीलीटर स्‍टीविया पत्तियों से निकाले गए रस का सेवन किया।

अध्‍ययन से स्‍पष्‍ट होता है कि यह उनके शरीर में खराब कोलेस्‍ट्रॉल (LDL) और ट्राइग्लिसराइड्स के नकारात्‍मक दुष्‍प्रभावों को कम करता है। इसके अलावा यह शरीर में अच्‍छे कोलेस्‍ट्रॉल (HDL) के स्‍तर को भी बढ़ावा देता है।

इस तरह से स्‍टीविया के फायदे कोलेस्‍ट्रॉल के लिए लाभकारी होते हैं।

(इसे भी पढ़ें – कोलेस्‍ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय)

स्टीविया के औषधीय गुण कैंसर को रोके – Stevia Benefits For Cancer Prevention in Hindi

 

स्टीविया के औषधीय गुण कैंसर को रोके - Stevia Benefits For Cancer Prevention in Hindi

एंटीऑक्‍सीडेंट की अच्‍छी मात्रा स्‍टीविया पौधे में होते हैं। एंटीऑक्‍सीडेंट का प्रमुख कार्य फ्री रेडिकल्‍स के प्रभावों को निष्क्रिय करना होता है। इसलिए स्‍टीविया को कैंसर की रोकथाम के लिए बेहतर आहार माना जाता है। स्‍टीविया में मौजूद ग्‍लाइकासाइड यौगिक शरीर में फ्री रेडिकल्‍स को नष्‍ट करने में मदद करते हैं जिससे उन्‍हें स्‍वसथ्‍य कोशिकाओं को कैंसर कोशिकाओं में बदलने से रोकने में मदद मिलती है। अध्‍ययनों से यह भी पता चलता है कि स्‍टीविया के उपयोग से केम्‍फेरोल (kaempferol) अग्नाशयी कैंसर के खतरे को 23 प्रतिशत तक कम किया जा सकता है। इसके अलावा इसमें मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंअ समय से पहले बुढ़ापे के संकेतों, संज्ञानात्‍मक खराबी और हृदय रोग जैसी कई अन्‍य गंभीर समस्‍याओं को रोकने में मदद करते हैं।

इस तरह से स्‍टीविया के प्राकृतिक लाभ प्राप्‍त करने के लिए इसका उपयोग किया जा सकता है।

(इसे भी पढ़ें – गले का कैंसर, कारण लक्षण और बचाव)

स्टीविया से करें एलर्जी दूर – Stevia Benefits For Cures Allergies in Hindi

2010 में यूरोपीय खाद्य सुरक्षा समिति की रिपोर्ट के अनुसार स्‍टीविया एलर्जी प्रतिक्रियाओं को कम करने में सहायक की भूमिका निभा सकती है। अध्‍ययनों से यह निष्‍कर्ष निकलता है कि स्‍टीविया में मौजूद स्‍टेविओल ग्‍लाइकोसाइड्स प्रतिक्रियाशील नहीं हैं और प्रतिक्रियाशील यौगिकों के लिए चयापचय नहीं किए जाते हैं। इसलिए इस बात की संभावना कम हो जाती है कि स्‍टीविया का सेवन करने से किसी प्रकार की एलर्जी हो सकती है। इस तरह से स्‍टीविया लगभग सभी लोगों के लिए सुरक्षित मानी जाती है।

अपने समग्र स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने के लिए आप स्‍टीविया की पत्तियों को अपने आहार में शामिल कर सकते हैं।

(इसे भी पढ़ें – स्किन एलर्जी के घरेलू उपाय)

स्टीविया लाभकारी है दांतों के लिए – stevia good for Dental Health in Hindi

स्टीविया लाभकारी है दांतों के लिए - stevia good for Dental Health in Hindi

समग्र शारीरिक स्‍वास्‍थ्‍य में दांतों का भी प्रमुख स्‍थान है। यह हमारे शरीर के प्रमुख हिस्‍सों में एक है जो कि बेहद संवेदनशील माने जाते हैं। दांतों के लिए मीठे खाद्य पदार्थ हानिकारक होते हैं। लेकिन मीठा होने के बावजूद भी स्‍टीविया की पत्तियां दांतों को नुकसान नहीं पहुंचाती हैं। इसका उपभोग करने पर दांत क्षय की संभावना भी कम हो जाती है। मुंह बैक्‍टीरिया की उपस्थिति दांतों के सुरक्षा कवच को नुकसान पहुंचाने वाले एसिड का उत्‍पादन करते हैं। जिनके कारण दांतों की सड़न हो सकती है। चूंकि स्‍टीविया में किण्वित कार्बोहाइड्रेट नहीं होते हैं इसलिए यह हमारे दांतों को किसी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचाते हैं, बल्कि हमें कई प्रकार के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ दिलाने में मदद करते हैं। इसलिए यदि आप मीठा खाना पसंद करते हैं और दांतों के कारण मीठा नहीं खा सकते हैं तो स्‍टीविया के फायदे एक अच्‍छा विकल्‍प है।

(इसे भी पढ़ें – कान दर्द का घरेलू उपचार)

स्‍टीविया का फायदा मुंहासे दूर करे – Stevia ka fayda muhase dur kare

औषधीय गुणों से भरपूर स्‍टीविया का फायदा मुंहासों आदि को दूर करने में प्रभावी होता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि स्‍टीविया में कई प्रकार के एंटी-बैक्‍टीरियल, एंटी-फंगल और एंटी-इंफ्लामेटरी गुणों के साथ एंटीऑक्‍सीडेंट भी होते हैं। जो मुंहासों में मौजूद संक्रमण और फ्री रेडिकल्‍स के प्रभाव को कम करने में सहायक होते हैं। मुंहासों का इलाज करने के लिए आप स्‍टीविया की ताजा पत्तियों को लें और इसका पेस्‍ट तैयार करें। इस पेस्‍ट को मुंहासे प्रभावित जगह पर रखें और जब पेस्‍ट सूख जाए तो समान्‍य पानी से धो लें। नियमित रूप से कुछ दिनों तक उपयोग करने पर स्‍टीविया का फायदा मुंहासों से छुटकारा दिला सकता है।

मुंहासे दूर करने के लिए स्‍टीविया के फायदे किसी औषधी से कम नहीं हैं।

(इसे भी पढ़ें – शतावरी के फायदे और नुकसान हिंदी में)

स्टीविया के फायदे गर्भावस्‍था में – stevia good for Pregnancy in Hindi

 

स्टीविया के फायदे गर्भावस्‍था में - stevia good for Pregnancy in Hindi

अपने औषधीय गुणों के कारण स्‍टीविया की पत्तियां गर्भवती महिलाओं के लिए भी फायदेमंद होती हैं। गर्भावस्‍था महिलाओं के लिए बहुत ही संवेदनशील स्थिति होती है इस दौरान उनका शरीर बाहरी संक्रमण से प्रभावित हो सकता है। लेकिन इस दौरान स्‍टीविया का उपभोग करना फायदेमंद हो सकता है। क्‍योंकि इसमें ऐसे एंटीऑक्‍सीडेंट होते हैं जो बाहरी संक्रमण से शरीर की रक्षा करने में मदद करते हैं साथ महिलाओं की प्रतिरक्षा शक्ति में वृद्धि भी कर सकते हैं। इस तरह से गर्भावस्‍था के दौरान स्‍टीविया का सेवन सुरक्षित माना जाता है। इसके अलावा गर्भवती महिलाओं में स्‍टीविया के कोई दुष्‍प्रभाव भी नहीं होते हैं।

गर्भावस्‍था के दौरान स्‍टीविया के फायदे महिलाओं के लिए अच्‍छे माने जाते हैं।

(इसे भी पढ़ें – सफेद मूसली के फायदे महिलाओं के लिए)

स्‍टीविया बेनिफिट्स फॉर स्किन – Stevia Benefits for Skin in Hindi

हेल्‍थ बेनिफिट्स होने के साथ ही स्‍टीविया के बेनिफिट्स स्किन के लिए भी होते हैं। नियमित उपयोग करने से स्‍टीविया के फायदे त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं को कम करने में सहायक होते हैं। स्‍टीविया में एंटी-बैक्‍टीरियल (Anti-bacterial) गुण होते हैं जिसके कारण यह एक्जिमा और डर्मेटाइटिस आदि समस्‍याओं का प्रभावी रूप से इलाज कर सकता है। स्‍टीविया का उपयोग करने पर यह बैक्‍टीरिया के प्रसार को रोकता है जिससे त्‍वचा संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है। यदि आप भी त्‍वचा को स्‍वस्‍थ रखना चाहते हैं और त्‍वचा समस्‍याओं का इलाज करना चाहते हैं तो स्‍टीविया का उपयोग अपने दैनिक आहार के साथ कर सकते हैं।

स्‍टीि‍विया के फायदे त्‍वचा समस्‍याओं को रोकने में भी प्रभावी होते हैं।

(इसे भी पढ़ें – नारियल तेल के फायदे चेहरे के लिए)

स्‍टीविया के औषधीय गुण लिवर को स्‍वस्‍थ रखे – Stevia ke ausdhiya gun Liver ko swasth rakhe in Hindi

स्‍टीविया के औषधीय गुण कई गंभीर और सामान्‍य स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं का इलाज कर सकते हैं। नियमित रूप से आहार के रूप में स्‍टीविया का सेवन करना यकृत स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने में सहायक होता है। एक अध्‍ययन के अनुसार नियमित रूप से स्‍टीविया पाउडर का सेवन करने से यृकत कोशिकाओं की क्षति और सिरोसिस जैसी समस्‍याओं को रोका जा सकता है। इसके अलावा अधिक मात्रा में शराब का सेवन करने से यकृत को होने वाली हानि को भी कम करने में स्‍टीविया का उपयोग फायदेमंद होता है।

आप भी स्‍टीविया के फायदे प्राप्‍त करने के लिए अपने आहार में इसे शामिल कर सकते हैं।

(इसे भी पढ़ें – नारियल पानी वजन कम करे)

स्‍टीविया का लाभ झुर्रियां दूर करे – Stevia for Cures wrinkles in Hindi

रेटिनोइक एसिड की मौजूदगी के कारण स्‍टीविया का लाभ त्वचा में मौजूद झुर्रियों के लिए होता है। नियमित रूप से उपयोग करने पर स्टीविया के अन्‍य पोषक तत्‍व त्‍वचा कोशिकाओं को फ्री रेडिकल्‍स के प्रभाव से बचाते हैं। जिससे त्वचा पर समय से पहले आने वाली झुर्रियों और फाइन लाइन के लक्षणों को कम किया जा सकता है। चेहरे की सुंदरता बढ़ाने के लिए भी स्‍टीविया के फायदे जाने जाते हैं।

(इसे भी पढ़ें – ब्लैकहेड्स के लिए घरेलू उपाय)

स्‍टीविया का इस्‍तेमाल पेट को स्‍वस्‍थ रखे – Stevia ka istemal healthy stomach ke liye in Hindi

स्‍टीविया का इस्‍तेमाल पेट की समस्‍याओं को दूर करने के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। यदि पेट की खराबी, बदहजमी (Indigestion), अपच आदि समस्‍याओं से परेशान हैं तो स्‍टीविया के अर्क का सेवन कर सकते हैं। इसके लिए आप पानी में स्‍टीविया की पत्तियों को उबालें और अर्क तैयार करें। इस अर्क का सेवन करने से आपको पेट संबंधी समस्‍याओं से छुटकारा मिल सकता है।

यदि आपको भी पेट संबंधी समस्‍या है तो स्‍टीविया के फायदे प्राप्‍त कर सकते हैं।

(इसे भी पढ़ें – पाचन को मजबूत बनाने वाली एक्सरसाइज)

स्‍टीविया का उपयोग कैसे करें – Stevia ka Upyog kaise kare in Hindi

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि स्‍वास्‍थ्‍य लाभ होने के कारण स्‍टीविया का उपयोग दवा या जड़ी बूटी के रूप में किया जाता है। स्‍टीविया का उपयोग आपके पसंदीदा खाद्य पदार्थों और पेय पदार्थों के रूप में चीनी के विकल्‍प में किया जा सकता है। स्‍टीविया पाउडर की 1 चुटकी मात्रा लगभग 1 चम्‍मच शक्कर के बराबर मीठा होता है।

स्‍टीविया का उपयोग निम्‍न तरीके से किया जा सकता है।

  • कॉफी या चाय के साथ स्‍टीविया पाउडर का उपयोग।
  • नींबू पानी बनाने के दौरान चीनी की जगह स्‍टीविया का रस या पाउडर।
  • अपने खाद्य आहार को स्‍वादिष्‍ट बनाने के लिए उपर से स्‍टीविया की पत्‍ती या पाउडर का उपयोग।
  • दही आदि के साथ स्‍टीविया पाउडर का सेवन।
  • आपके द्वारा बनाए जाने वाले लगभग सभी मीठे खाद्य पदार्थों में आवश्‍यकता के अनुसार स्‍टीविया का उपयोग किया जा सकता है।

स्‍टीविया के नुकसान – Stevia Ke Nuksan in Hindi

यह एक आयुर्वेदिक औषधी है जिसका उपयोग मानव स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होता है। औषधीय गुणों की अच्‍छी मात्रा होने के बाद भी इसका उपभोग बहुत ही कम मात्रा में करना चाहिए। अधिक मात्रा में इसका सेवन कई गभीर स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याएं उत्‍पन्‍न कर सकता है।

  • कुछ स्‍टीविया उतपादों में चीनी शराब (sugar alcohol) हो सकती है।
  • यह संवेदनशीलता वाले लोगों में सूजन, पेट की ऐंठन, मतली और दस्‍त आदि समस्‍याओं का कारण हो सकती है।
  • अध्‍ययनों के अनुसार स्‍टीविया गभर्वती महिलाओं के लिए फायदेमंद होती है लेकिन उन्‍हें भी बहुत ही कम मात्रा में इसका सेवन करना चाहिए।
  • यदि आप किसी विशेष स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं के लिए दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो स्‍टीविया का औषधीय उद्देश्‍य हेतू सेवन करने से पहले अपने डॉक्‍टर से सलाह लेना आवश्‍यक है।

 

और अधिक स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी जानकारीयां प्राप्‍त करने के लिए आप हमारे Facebook Page को भी लाइक कर सकते हैं।

You may also like...

Your email will not be published. Name and Email fields are required